Menu

Emerald News

Emerald News

25 से अधिक मामले दर्ज, किसान यूनियनों तक की जांच होगी : ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा पर दिल्ली पुलिस ने दिया बयान .
Emerald News नई दिल्ली : गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर परेड (Republic Day's tractor rally) के दौरान हुई हिंसा के एक दिन बाद दिल्ली पुलिस (Delhi police) की तरफ से आज पत्रकारों से बात की गयी. पुलिस की तरफ से कहा गया कि इस मामले में 25 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं. पुलिस ने कहा है कि मामले में किसान संगठनों की भूमिका की भी जांच की जाएगी. किसान लीडर्स ने विश्वासघात किया है.पुलिस कमिश्नर एसएन,श्रीवास्तव ने कहा कि 2 जनवरी को पुलिस को पता चला कि एक ट्रैक्टर रैली निकलने जा रही है.ये भी आह्वान किया गया कि बड़ी संख्या में लोग दिल्ली आएंगे. हमारी किसानों से 5 बार मीटिंग हुई. हमने उन्हें  26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली नहीं निकालने की सलाह दी लेकिन वो नहीं माने हमने फिर कहा कि वो केएमपी पर रैली निकाल लें.फिर बातचीत के बाद हमने उन्हें 3 रुट बताया.पहला सिंघू बॉर्डर,टिकरी बॉर्डर और ग़ाज़ीपुर बॉर्डर. उस दिन रिपब्लिक डे परेड थी इसलिए सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ये तय हुआ कि कुछ कंडीशन लगाई जाएगी. शर्तों के तहत कहा गया कि रैली 12 बजे शुरू होगी और 5 बजे खत्म हो जाएगी.रैली का नेतृत्व उनके नेता करेंगे. 5 हजार  से अधिक ट्रैक्टर नहीं होने चाहिए. रैली में कोई हथियार लेकर नहीं आए. रैली शांतिपूर्ण हो. नेताओं ने लिखित परमिशन में सभी शर्तों को मंजूर किया था लेकिन किसान नेताओ ने करार हुई सारी शर्तो को तोड़ दिया | पुलिस ने कहा जो तिरंगे का अपमान हुआ है उसको हम काफी गंभीरता से ले रहे है और इस अपराध में जो भी कसूरवार है किसी को नहीं छोड़ा जाएगा | दंगे में शामिल हर एक शक्श की बारीकी से पहचान की जा रही है | पुलिस ने कहा जिस तरीके के हालत थे उसमे काफी जाने जा सकती थी लेकिन पुलिस ने काफी सैय्यम बरता .

Go Back

Comment