Menu

Emerald News

Emerald News

AIIMS मामला: दिल्ली हाई कोर्ट ने  लोकप्रिय विधायक सोमनाथ भारती को दी जमानत, ट्रायल कोर्ट के आदेश पर भी लगाई रोक
Emerald News New Delhi : AIIMS मारपीट मामले में दोषी आप (AAP) विधायक और पूर्व कानून मंत्री सोमनाथ भारती को दिल्ली हाई कोर्ट ने बुधवार को जमानत दे दी है. कोर्ट ने साथ ही ट्रायल कोर्ट के उस आदेश पर भी रोक लगा दी, जिसमें एम्स सुरक्षा कर्मचारियों के साथ मारपीट करने और सार्वजनिक संपत्ति को नष्ट करने के मामले में उन्हें दोषी ठहराया गया था. विधायक सोमनाथ भारती ने राउज़ एवेन्यू कोर्ट के फैसले को दिल्ली हाई कोर्ट में चुनौती दी थी. 23 मार्च को एम्स मारपीट मामले में AAP विधायक सोमनाथ भारती की सजा को राउज़ एवेन्यू कोर्ट ने बरकरार रखा था और सोमनाथ भारती को तिहाड़ जेल भेज दिया था.
राऊज एवनेयु कोर्ट ने सोमनाथ भारती को 2 साल की कैद और एक लाख जुर्माने की सजा सुनाई थी. मंगलवार को दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने AAP विधायक को जेल भेज दिया था. सोमनाथ भारती को एम्स में सुरक्षाकर्मी से 2016 में की गई मारपीट के मामले में जेल भेजा गया.  23 जनवरी को इस मामले में उन्हें दोषी ठहराया गया था और 2 साल की सजा सुनाई गई थी. इस फैसले के खिलाफ उन्होंने सेशन कोर्ट में अपील की थी. लेकिन सेशन कोर्ट ने भी निचली अदालत के फैसले को बरकरार रखते हुए सोमनाथ भारती को जेल भेज दिया था.
 
2016 का है मामला
सोमनाथ भारती को दंगा कराने और अवैध रूप से लोगों को जुटाने, और प्रिवेंशन ऑफ डैमेज टू पब्लिक प्रॉपर्टी अधिनियम के तहत सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोपों में दोषी मानते हुए सजा सुनाई गई है. अदालत ने फैसले में सोमनाथ भारती की उस दलील को खारिज कर दिया कि जिसमें कहा गया कि उन्हें इस केस में फर्जी तरीके से फंसाया गया है. मामला साल 2016 का है. जब सितंबर में एम्स के मुख्य सुरक्षा अधिकारी ने हौजखास थाने में भारती के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी | जानकारों का मानना है विधायक सोमनाथ भारती जमीन से जुड़े हुए नेता है और वह अपने इलाके की जनता के लिए हर वक़्त सुख दुःख में हमेशा शामिल रहते है | उनकी बढ़ती लोकप्रियता को कुछ लोग पचा नहीं पा रहे है और वो लोग अपने आपसे से परेशान है | आपको बता दे सोमनाथ भारती पर काफी केस एक साथ चल रहे है लेकिन मज़े की बात ये है उनपर सारे केस जनता से जुड़े हुए है और जनता के हक़ के लिए है इतिहास में ऐसे नेता काफी कम होते है जो जनता के हक़ की लड़ाई के लिए जेल जाते है | लेकिन एक सचाई ये भी है जिसको सुनकर आपको हैरानी होगी सोमनाथ भारती जी जब जेल में गए तो एक तरीके से लोग चुप हो गए थे मानो जैसे साप सुंग गया हो और मीडिया ने सोमनाथ भारती मामले पर उनके अपने करीबी नेताओ से सामनाथ भारती पर उनकी निजी रॉय जानने की कोशिस की तो उन्होंने इसपर कोई बात नहीं की लेकिन जैसे ही सामनाथ भारती जी जेल से बाहर आए तो वही नेता उनके नाम की सुर्खिया बटोरने की कोशिस करते नज़र आए बस दूसरे नेताओ में और सोमनाथ भारती में यही फर्क है आम नेता सिर्फ अपना राजनैतिक फायदा देखते है और सोमनाथ भारती जी इंसानियत और भाईचारे को अहमियत देते है इसलिए नेता होना बड़ी बात नहीं है सोमनाथ भारती जैसा बलिदानी निडर और अच्छा इंसान होना बड़ी बात है जो नेता अपने मित्र अपने इलाके जी जनता के करीब नहीं है वह ना ही अच्छा इंसान है और ना ही नेता .

Go Back

Comment