Menu

Emerald News

Emerald News

 
मशहूर मॉडल दिनेश मोहन बोले तीन तलाक बिल महिओ के लिए बेहद जरुरी था  
Emerald News New Delhi  : तीन तलाक बिल मंगलवार को राज्यसभा से पास हो गया और अब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मंजूरी के साथ ही यह कानून की शक्ल ले लेगा। उधर, राज्यसभा में तीन तलाक बिल पास हुआ उसके बाद श्री दिनेश मोहन ने बताया की इस कानून की देश को कितनी जरुरत थी ये सिर्फ वो महिला ही बता सकती है जिसने सालो से इस दर्द को झेला है | इस कानून को किसी राजनैतिक या धार्मिक चश्मे से बिलकुल नहीं देखना चाहिए क्योकि ये एक महिलाओ के मान सम्मान की बात थी और मुझे लगता है आने वाले समय में इस कानून से पीड़ित महिलाओ को काफी मदद मिलेगी | वही श्री दिनेश मोहन जी की बात करे तो उनके बारे में माना जाता है की ये अपनी मॉडलिंग के जारी काफी महिलाओ की मदद करते है और उनको मॉडलिंग के जरिए आगे लाने का काम करते रहते है . 
 
 
 
 

Emerald News

 
दिल्ली: साउथ एमसीडी की कमिश्नर को लेकर बवाल, उपराज्यपाल से हुई शिकायत
Emerald News, New Delhi :दिल्ली नगर निगम में इस वक्त कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है. एक तरफ निगम फंड की किल्लत से जूझ रही है, तो दूसरी ओर अब नगर निगम के आंतरिक झगड़े बड़े रूप लेते नजर आ रहे हैं. साउथ एमसीडी के सबसे महत्वपूर्ण पद स्टैंडिंग कमेटी के चेयरमैन ने उपराज्यपाल को चिट्ठी लिखकर नए कमिश्नर की नियुक्ति की मांग की है.
चेयरमैन भूपेंद्र गुप्ता ने उपराज्यपाल को चिट्ठी में लिखा है कि घंटों इंतजार कराने के बाद भी कमिश्नर मिलने का वक्त नहीं देती है. मीटिंग में बुलाने पर भी नहीं आती है. ऐसे में साउथ एमसीडी नगर निगम के कार्य प्रभावित हो रहे हैं, इसलिए किसी नए कमिश्नर की नियुक्ति की जाए.
साउथ एमसीडी के स्थाई समिति के अध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि एमसीडी कमिश्नर वर्षा जोशी का नगर निगम में मन नहीं लगता है. शायद उन्हें केंद्र में जाने का मन है. ऐसे में हम उपराज्यपाल से मांग करते हैं कि किसी नए कमिश्नर की नियुक्ति की जाए.
बता दें, इससे पहले नॉर्थ एमसीडी में कई पार्षदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर कमिश्नर को हटाने की मांग की थी. पार्षदों का कहना था कि बीते 8 महीने से वह लगातार कमिश्नर से मिलने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन कमिश्नर उन्हें वक्त तक नहीं देती हैं. खास बात यह रही है कि कमिश्नर को हटाने का मुद्दा बीजेपी पार्षदों ने भी उठाया था, जबकि नगर निगम में बीजेपी की ही सरकार है.
हालांकि इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि कमिश्नर वर्षा जोशी फिलहाल दो एमसीडी में कमिश्नर के पद पर तैनात हैं. नॉर्थ एमसीडी में पूर्णकालिक तौर पर वो कमिशनर हैं, जबकि साउथ एमसीडी में उन्हें अतिरिक्त चार्ज दिया गया है. ऐसे में जब तक साउथ एमसीडी को जबतक पूर्णकालिक कमिश्नर नहीं मिल जाता, तब तक इस तरह का संकट बना रह सकता है.
"वही कुछ लोगो का यह भी मानना है की दिल्ली नगर निगम में पारदर्शिता से कभी काम शुरू हो भी पाएगा इसकी उम्मीद कम ही है | कुछ लोगो का कहना है निगम छोटे मोठे घर बनाने पर तुरंत कार्यवाही करता है और बड़ी बड़ी बुल्डींगे फार्म हाउस अधिकारी कुछ बनवा देते है   .

Emerald News

 
महिला ने बुजुर्ग को अपने फ्लैट पर बुलाकर पिलाया नशीला पदार्थ, खुद ही अश्लील वीडियो बनाकर किया ब्लैकमेल 
Emerald News New Delhi : राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम के हरसरू गांव की रहने वाली एक महिला ने बुजुर्ग को अपने जाल में फंसा लिया. उसके बाद कैश और प्रॉपर्टी खुद के नाम करवाकर लगातार ब्लैकमेल करने लगी. पुलिस ने 64 वर्षीय बुजुर्ग की शिकायत पर मामला दर्ज कर ब्लैकमेलर महिला को गिरफ्तार कर लिया है. दरअसल, सरकारी विभाग से रिटायर्ड बुजुर्ग की उनके भाई के ड्राइवर ने एक महिला से अप्रैल में मुलाकात करवाई थी. उसने अपने बच्चों के एडमिशन के लिए बुजुर्ग से केंद्रीय विद्यालय में सिफारिश लगवाई, जिसके बाद दोनों के बीच मुलाकात का सिलसिला शुरू हो गया
आरोपों के मुताबिक, एक दिन उसने बुजुर्ग को अपने फ्लैट पर बुलाया और कोल्ड ड्रिंक पिलाई, जिसके बाद उनको बेहोशी छा गई. होश में आने के बाद बुजुर्ग बेसुध हालत में अपने घर पहुंचा. वहीं कुछ दिन बाद ही महिला ने बुजुर्ग को बताया कि बेहोशी के दौरान उसने अपने साथ कुछ अंतरंग वीडियो बनाए थे, जो उसके मोबाइल में मौजूद हैं. बस यहीं से ब्लैकमेलिंग का खौफनाक खेल शुरू हो गया
अब महिला आए दिन बुजुर्ग से पैसों की मांग करने लगी. इतना ही नहीं उसने वीडियो सार्वजनिक करने की भी धमकी दी. उसने पहले हरसरू में एक जमीन अपने नाम करवा ली, इसके बाद गुरुग्राम के सेक्टर 92 में एक फ्लैट के कागज भी अपने कब्जे में ले लिए. दोनों में अब ये तय हुआ था कि इसके बाद वह कभी भी ब्लैकमेल नहीं करेगी. लेकिन कुछ ही दिन बाद उसने अपने एक साथी के साथ मिलकर दोबारा ब्लैकमेलिंग का खेल शुरू कर दिया. इस बार उसने ट्यूलिप सोसाइटी में फ्लैट दिलाने की मांग की. जिसके बाद बुजुर्ग ने गुरुग्राम पुलिस से शिकायत की और महिला को गिरफ्तार करवाया.
आमतौर पर माना जाता है की सिर्फ पुरुष ही महिला को ब्लैकमेल करते है पर ऐसा नहीं है आज परिस्तिथि बदलती जा रही है महिला भी अब ऐसा ही कर रही है जब भी महिला को लगता है की पुरुष उसकी बात नहीं मान रहा या उसकी पैसे की जरूरतों को पूरा नहीं कर रहा तो महिला अक्सर ऐसा कदम उठा लेती है . 
 
 
 
 

Emerald News

 
मानहानि के मामले में राहुल गांधी आज गुजरात के  अहमदाबाद मेट्रो कोर्ट में होंगे पेश
Emerald News नई दिल्ली : कांग्रेस नेता राहुल गांधी एडीसी बैंक मानहानि मामले में अहमदाबाद की मेट्रोपोलिटन कोर्ट में पेशी देंगे. राहुल गांधी अहदाबाद 12 बजे तक अहमदाबाद पहुंचेंगे. वहां से सीधे कोर्ट के लिए वे 2 बजे तक रवाना होंगे.
 
राहुल गांधी अहमदाबाद के सर्किट हाउस पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक भी करेंगे. मीटिंग के बाद राहुल गांधी का 5 अलग-अलग जगहों पर स्वागत किया जाएगा. एनएसयूआई, यूथ कांग्रेस और महिला मोर्चा के कार्यकर्ताओं से राहुल गांधी मुलाकात करेंगे.
कोर्ट में पेशी खत्म होने के बाद शाम 5 बजे दिल्ली के लिए राहुल गांधी रवाना होंगे. कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक (एडीसीबी) और उसके चेयरमैन अजय पटेल ने मानहानि की शिकायत करते हुए मामला दर्ज करवाया था.
 
बता दें कि नोटबंदी के दौरान राहुल गांधी और रणदीप सुरजेवाला ने एडीसी बैंक पर 745 करोड़ रुपये की ब्लैकमनी को व्हाइट कराने का आरोप लगाया था जिसको लेकर पिछले साल याचिकाकर्ताओं ने मानहानि का मुकदमा दर्ज करवाया था.
 
मानहानि केस के इस मामले में कोर्ट ने अप्रैल में सुनवाई की थी और तब कोर्ट ने राहुल गांधी को 27 मई को पेश होने के आदेश दिए थे, लेकिन राहुल गांधी ने कोर्ट से अपील की थी कि उन्हें अधिक समय दिया जाए. इस मांग को कोर्ट ने स्वीकार कर लिया था और राहुल गांधी को 12 जुलाई को कोर्ट के सामने पेश होने का आदेश दिया था.
 
 
 
 

Emerald News

 
अलीगढ़, बिजनौर, अमरोहा समेत इन इलाकों में बारिश का अलर्ट" BMC की निकली हवा अब MCD का इम्तेहान  
Emerald News New Delhi : अगले दो घंटों में पश्चिम उत्तर प्रदेश का मौसम खुशनुमा हो सकता है. मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक, नरौरा, अमरोहा, बिजनौर, नजीबाबाद, अलीगढ़, हस्तिनापुर, खैर और उसके आसपास के क्षेत्रों में तेज आंधी के साथ बारिश हो सकती है और कुछ ही दिनों में दिल्ली के मौसम पर भी असर पड़ सकता है | अब देखने वाली बात यह होगी की दिल्ली नगर निगम ने मानसून से निपटने की कितनी तयारी की हुई है मुंबई की तरह दिल्ली में भी हर साल जरा से बारिश होते है MCD की हवा निकल जाती है हर जगह नाले जाम दिखाई पड़ते है और जगह जगह ट्रेफिक जाम का लोगो को सामना करना पड़ता है  
 
 
 
 

Emerald News

 
दिल्ली: बीजेपी नेता विजेंद्र गुप्ता की पत्नी बनीं ठक-ठक गैंग का शिकार, बदमाश बैग लेकर फरार
Emerald News News Delhi : भारतीय जनता पार्टी के नेता विजेंद्र गुप्ता की पत्नी ठक-ठक गैंग का शिकार बनीं. पुलिस के मुताबिक, सोमवार सुबह करीब 11 बजे के आसपास विजेंद्र गुप्ता की पत्नी अपने घर से किसी मीटिंग को अटेंड करने जा रही थी. कार में विजेंद्र गुप्ता की पत्नी, ड्राइवर और एक अन्य शख्स था, तभी बाइक पर सवार चार लोग आए और उनका ध्यान भटका कर गाड़ी से विजेंद्र गुप्ता की पत्नी का बैग लेकर फरार हो गए.
पुलिस का कहना है कि बदमाशों ने पहले बोला कि गाड़ी में से कुछ लिक्विड गिर रहा है, जिसके चलते ड्राइवर के साथ बैठा शख्स गाड़ी से बाहर निकलकर चैक करने लगा. सबका ध्यान गाड़ी पर था, तभी बदमाशों ने मौका देख बैग पर हाथ साफ कर दिया और बैग लेकर फरार हो गए. वारदात के वक्त गाड़ी में ड्राइवर और विजेंद्र गुप्ता की पत्नी बैठे हुए थे, लेकिन जब तक वो कुछ समझ पाते बदमाश वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए.
बता दें कि इससे पहले बीते दिनों कांग्रेस नेता अमृता धवन भी ठक-ठक गैंग का शिकार हो चुकी हैं. अमृता धवन की कार ट्रैफिक सिग्नल पर खड़ी थी, तभी लोगों ने उनके टायर पंचर होने की तरफ इशारा किया. दोनों युवक स्कूटर पर सवार थे और धवन कार में थीं. इसके बाद वह टायर देखने के लिए रुकीं. धवन ने बताया कि जब वह अपनी गाड़ी का टायर चेक कर रही थीं, तभी दो लोग वहां स्कूटर से पहुंचे और कार की पीछे वाली सीट पर पड़ा उनका हैंड बैग लेकर फरार हो गए. अमृता धवन के साथ हुई लूपपाट मामले में पुलिस ने ठक-ठक गैंग के एक बदमाश को गिरफ्तार कर लिया है 
लेकिन सोचने वाले बात ये है की आखिर कब तक दिल्ली में ऐसे हादसे होते रहेंगे अभी तक पुलिस बदमाशों के हौसले को क्यों नहीं तोड़ पाई ये एक बड़ा सवाल है 
 
 
 
 

Emerald News

 
वन नेशन वन- इलेक्शन लोकतंत्र में जरूरी ही नहीं संविधान के मुताबिक भी है : जस्टिस चौहान
Emerald News New Delhi : एक देश एक चुनाव पर लॉ कमीशन के पूर्व अध्यक्ष जस्टिस बलबीर सिंह चौहान ने कहा कि आयोग ने इस बाबत विस्तृत वर्किंग डाक्यूमेंट भी जारी किया था. आयोग चाहता था कि इस मुद्दे पर राजनीतिक दलों, संविधान और विधि विशेषज्ञों  के साथ-साथ आम जनता से भी सीधे विचार लिए जाएं, ताकि सबकी सहमति से जो रास्ता निकले उसे ही सिफारिश का हिस्सा बनाया जाए.
मीडिया से खास बातचीत के दौरान जस्टिस चौहान ने कहा कि एक देश एक चुनाव आज के ज़माने और लोकतंत्र में जरूरी ही नहीं बल्कि संविधान के मुताबिक भी है. इससे देश के संघीय ढांचे पर भी कोई असर नहीं पड़ेगा. उनका मानना है कि इस गंभीर मुद्दे पर व्यापक बहस की जरुरत है.
चौहान का कहना है कि राजनीतिक दल और विशेषज्ञ ऐसा संवैधानिक रास्ता निकालें कि अगर चुनाव के बाद हंग हाउस यानी त्रिशंकुल सदन हो और राजनीतिक दल किसी एक व्यक्ति को सर्वसम्मति से प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्रीबनाने पर सहमत ना हों तो वैसी स्थिति में क्या किया जाए. यानी ऐसी संवैधानिक व्यवस्था हो कि जिस तरह सदन स्पीकर का चुनाव करता है वैसे ही सदन के नेता का भी चुनाव करे. वही नेता प्रधानमंत्री या फिर मुख्यमंत्री बनाया जाए. लेकिन बड़ा सवाल यह है कि अगर सदन स्पीकर की तरह नेता चुनने को राजी ना हों तो क्या होगा
कुछ दूसरे लोगो का मानना है की देश में सिर्फ लोकसभा चुनाव हो और उसके बाद केंद्र सरकार ही मुख्यमंत्री को चुने और राज्य का मुख्यमंत्री अपने हिसाब से नगर पालिका के सदस्य को चुने ताकि अगले पांच सालो के लिए सभी तरह की जवाब देहि सिर्फ केंद्र सरकार की ही रहे और देश को बार बार चुनाव में जाने से बचाया जा सके . 
 
 
 
 

Emerald News

 
आखिर कब तक देश ऐसी हड़तालों का सामना करता रहेगा"सरकार जल्द बनाए कड़ा कानून 
Emerald News New Delhi : पश्चिम बंगाल में एक डॉक्टर के साथ परिजनों की मारपीट की घटना के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया और राजधानी दिल्ली समेत देश के कई शहरों में डॉक्टर हड़ताल पर चले गए. मेडिकल सेवाओं से जुड़ें डॉक्टर एक ऐसी आपातकालीन सेवा से जुड़े होते हैं जिनके 5 मिनट की अनुपस्थिति किसी मरीज की जान पर भारी पड़ सकती है.
ऐसे में देशभर के कई अस्पतालों में डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने के बाद अस्पताल की व्यवस्था चरमरा गई है. पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल खत्म करवाने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शीर्ष डॉक्टरों के पैनल से कोलकाता में मुलाकात की तो डॉक्टरों का एक समूह शुक्रवार स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से मिला, तो वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी भी लिखेगा. इस बीच केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चिट्ठी लिखकर डॉक्टरों की हड़ताल के मौजूदा गतिरोध को व्यक्तिगत रूप से हस्तक्षेप कर सुलझाने को कहा है.
ऐसा पहली बार नहीं है जब देश के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए और सैकड़ों मरीजों की जान पर बन आई. एक नजर डालते हैं कि डॉक्टरों के पिछले हड़ताल पर जिसने पूरी चिकित्सीय व्यवस्था को निष्क्रिय बना दिया. हाल के दिनों में डॉक्टरों की हड़ताल की संख्या काफी बढ़ गई है. डॉक्टरों की कमी जूझ रहे देश में जब बड़ी संख्या में डॉक्टर हड़ताल पर चले जाएं तो स्थिति काफी खराब हो जाती है.
 
हड़ताल
 
मई, 2019: दिल्ली में एनडीएमसी की ओर से चलाए जा रहे हिंदू राव अस्पताल में 500 रेजीडेंट डॉक्टरों ने वेतन आने में हुई देरी से नाराज होकर 3 घंटे के हड़ताल पर चले गए जिससे वहां जाने वाले मरीजों को खासी तकलीफों का सामना करना पड़ा. एमसीडी का यह सबसे बड़ा अस्पताल है और इसमें 1200 बेड की क्षमता है
देश में समय समय पर किसी ना किसी बात को लेकर कही ना कही हड़ताल चलती रहती है और साथ ही विरोध प्रदर्शन लेकिन इन दोनों चीज़ो से आखिर आम नागरिक को ही परेशानियों का सामना करना पड़ता है लेकिन अब समय आ गया है सरकार को इन दोनों चीज़ो पर एक कड़ा कानून बनाना चाहिए जिससे आम नागरिक को होने वाली परेशानिओ से बचाया जा सके .
 
 
 
 

Emerald News

 
किडनी रैकेट: दिल्ली के कई टॉप सर्जन पर है पुलिस की नजर होगी कड़ी पूछताछ 
Emerald News New Delhi : नई दिल्ली किडनी रैकेट: दिल्ली के कई टॉप सर्जन पर है पुलिस की नजर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है ( सांकेतिक तस्वीर)
तुर्की से लेकर मध्य पूर्व तक फैले अंतर्राष्ट्रीय किडनी रैकेट के मद्देनजर निजी अस्पतालों में या निजी प्रैक्टिस करने वाले दिल्ली के प्रमुख यूरोलॉजिस्ट से लेकर करीब दर्जन भर से ऊपर सर्जन पर उत्तर प्रदेश पुलिस की निगाह बनी हुई है. अभी तक इस मामले में पुष्पावती सिंघानिया रिसर्च इंस्टीट्यूट (पीएसआरआई) के डॉ. दीपक शुक्ला सहित 13 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.
 
आईएएनएस के मुताबिक फोर्टिस अस्पताल के दो प्रमुख डाक्टरों को किडनी रैकेट मामले में नोटिस दिया गया है. मध्य दिल्ली में स्थित एक अन्य अस्पताल के खिलाफ जांच जारी है और इस मामले में और गिरफ्तारी से इनकार नहीं किया जा सकता.
 
इस मामले के सामने आने के बाद से चिकित्सा जगत में उथल-पुथल है. कानपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव ने आईएएनएस से बातचीत में कहा कि मानव अंग प्रत्यारोपण अधिनियम के उल्लंघन के मामले में फोर्टिस अस्पताल को नोटिस जारी किया गया है.
 
इस मामले की जांच की निगरानी कर रहे उत्तर प्रदेश काडर के आईपीएस अधिकारी अनंत देव ने बताया कि डॉक्टरों द्वारा गरीब लोगों से धोखाधड़ी का मामला फोर्टिस के अलावा पीएसआरआई और मध्य दिल्ली के एक और अस्पताल में सामने आई है. इसमें अस्पताल प्रशासन और मध्यस्थ की भूमिका भी सामने आई है.
 
एसएसपी ने कहा कि पुलिस ने इस मामले के प्रमुख आरोपी डॉ. केतन कौशिक की तलाश के लिए व्यापक अभियान शुरू किया है. कौशिक किडनी प्रत्यारोपण के लिए तुर्की, संयुक्त अरब अमीरात और मध्य पूर्व के अन्य स्थानों से मरीजों को यहां लाता था.
 
एसएसपी देव ने कहा कि यह रैकेट काफी बड़ा है. अलग-अलग स्थानों से अलग-अलग समूह इसे संचालित कर रहे थे. अभी हमने एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है, जो दिल्ली के अस्पतालों से संचालित होता है. एसएसपी ने कहा कि दीपक शुक्ला का नाम इस मामले में संलिप्त कम से कम 10 आरोपियों ने लिया है. गिरफ्तार किए गए शुक्ला का सामना अन्य आरोपियों से कराया जाएगा.
 
यह रैकेट एक संगठित गिरोह की तर्ज पर काम करता है. मसलन अंतर्राष्ट्रीय मरीज से जहां कुछ लोग संपर्क करते थे, वहीं कुछ लोगों का काम स्थानीय किडनी डोनर को फंसाना होता था. पुलिस सूत्रों ने कहा कि इसके पर्याप्त सबूत हैं कि आरोपी ने किडनी लेने वाले मरीजों से बड़ी मात्रा में धनराशि लेकर कम से कम 12 दानदाताओं की किडनी निकाली है.
 
किडनी दानकर्ताओं को जहां दो-तीन लाख रुपये दिए जाते थे, वहीं किडनी लेने वालों से 70 से 80 लाख रुपये वसूले जाते थे. जांच में अंतर्राष्ट्रीय सूत्र का खुलासा हुआ है, जहां यह पाया गया कि दिल्ली स्थित डॉक्टर केतन कौशिक अंतर्राष्ट्रीय मरीजों के मामलों को देखते थे.
 
इस रैकेट के खुलासे से देशभर के मेडिकल पेशेवर सदमे में हैं. सूत्रों ने कहा कि आने वाले दिनों में इस मामले में कुछ और प्रमुख डाक्टरों से पूछताछ की जा सकती है. एसएसपी के मुताबिक, डॉ. शुक्ला और अन्य प्रमुख आरोपियों से कानपुर के पुलिस अधीक्षक (अपराध) के नेतृत्व में एक विशेष टीम विस्तृत पूछताछ करेगी
 
 
 
Attachments area
 
 
 

Emerald News

 
56 घंटे बाद भी नहीं चला AN-32 विमान का पता, कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा उठाये गंभीर सवाल 
Emerald News New Delhi : भारतीय वायुसेना के लापता विमान एएन-32 का अब तक कोई सुराग नहीं मिला है, जिसको लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार और रक्षा मंत्रालय पर करारा हमला बोला है. कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एएन-32 विमान को लेकर मोदी सरकार और रक्षा मंत्रालय पर तीन सवाल दागे हैं. उन्होंने पूछा कि जब भारतीय वायुसेना के पास अच्छे विमान हैं, तो इतने खतरनाक इलाके में एएन-32 को ही क्यों उड़ाया गया? मोदी सरकार एएन-32 विमानों को बदलने के लिए रक्षा मंत्रालय को पर्याप्त बजट क्यों नहीं आवंटित कर रही है?
रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि इसी तरह अंडमान और निकोबार द्वीप समूह जाने के दौरान एक एएन-32 विमान लापता हो गया था, जिसका आजतक कोई सुराग नहीं मिला. इसके बावजूद रक्षा मंत्रालय ने कोई ठोस कदम क्यों नहीं उठाया?
कांग्रेस  प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय वायुसेना के लापता एएन-32 विमान में एसओएस सिग्नल यूनिट 14 साल पुरानी लगी थी. सुरजेवाला ने पूछा कि जब साल 2009 में भारत और यूक्रेन के बीच एएन-32 विमानों के अपग्रेडेशन के लिए करार हो चका है, तो इनको अब तक अपग्रेड क्यों नहीं किया गया?